Headlines
scroll

    Please Contact Us To Join GNA News Agency, For : Reporter, State head, Bureau chef.Toll Free:18004192745,+91 7575000130/+91 2656590130

Home / World / पि.एम ने थामा फावड़ा,राइस रिसर्च इंस्टिट्यूट में खुदाई की

पि.एम ने थामा फावड़ा,राइस रिसर्च इंस्टिट्यूट में खुदाई की

BY:GNA-INTARNATIONAL
फिलीपींसःमनीला में 31वें आसियान समिट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंटरनेशनल राइस रिसर्च इंस्टिट्यूट को विजिट किया. फिलीपींस रे लॉस बानोस में स्थित इस रिसर्च इंस्टिट्यूट में रिजिल्यन्ट राइस फील्ड लैबोरेट्री का शुभारंभ भी किया. पीएम मोदी ने इस अवसर पर रिचर्स फील्ड में फावड़े से मिट्टी की खुदाई भी की.

इस इंस्टिट्यूट में चावल को उन्नत करने का कार्य किया जाता है. जल्द ही, इसकी एक शाखा पीएम के लोकसभा क्षेत्र वाराणसी में भी काम करेगी. इसके पहले 31वें आसियान समिट की मनीला में औपचारिक शुरुआत हुई. मोदी सहित अन्य वैश्विक नेता इस सम्मेलन में शिरकत कर रहे हैं.
3 देशों के प्रमुखों संग मोदी की बैठक
भारत, ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका व जापान के अधिकारियों ने एशिया प्रशांत क्षेत्र में प्रस्तावित चार-पक्षीय गठजोड़ के तहत सुरक्षा सहयोग को आकार देते हुए पहली आधिकारिक बैठक की है, जिसमें रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण भारत-प्रशांत क्षेत्र (इंडो-पैसेफिक) को मुक्त, खुला और समावेशी बनाने एवं साझा हितों को बढ़ावा देने से जुड़े मुद्दों पर गहन चर्चा की गई. इस रणनीतिक क्षेत्र में चीन अपनी सैन्य मौजूदगी बढ़ा रहा है.

बैठक के बाद इसमें शामिल सभी चार देशों ने अपने अपने बयान जारी किये, जिसमें भारत-प्रशान्त महासागरीय क्षेत्र पर चर्चा को प्रमुख रूप से शामिल किया गया और सभी देशों ने नियम आधारित आदेश को बरकरार रखने और क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय कानून का सम्मान सुनिश्चित करने के लिए काम करने का संकल्प जताया. यह बैठक आसियान सम्मेलन से पहले आयोजित की गई, मंगलवार से शुरू होने वाले आसियान सम्मेलन में भारत-प्रशांत क्षेत्र और दक्षिण-चीन सागर में चीन के सैन्य विस्तार की चुनौतियों के बारे में भी चर्चा की जा सकती है.
इस बैठक को इन चारों देशों के बीच चार-पक्षीय सुरक्षा वार्ता व्यवस्था शुरू करने की दिशा में पहले कदम के रूप में देखा जा रहा है. अधिकारियों ने भारत-प्रशांत क्षेत्र में उभरते सुरक्षा परिदृश्य के अलावा आतंकवाद तथा अन्य सुरक्षा चुनौतियों से निपटने के उपायों पर भी चर्चा की. विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि बातचीत क्षेत्र में शांति, स्थिरता और समृद्धि को बढ़ावा देने के लिये एक-दूसरे से संबद्ध दृष्टिकोण और मूल्यों पर आधारित सहयोग पर केंद्रित रही. मंत्रालय ने बयान में कहा, ‘वे इस बात पर सहमत हुए कि मुक्त, खुला, समृद्ध और समावेशी भारत-प्रशांत क्षेत्र, क्षेत्र के देशों और कुल मिलाकर दुनिया के लिये दीर्घकालीन हितों को पूरा करता है.
मोदी और ट्रंप भी मिले

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आसियान की 50वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में आयोजित डिनर के दौरान नेताओं के परस्पर मेल मिलाप के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और चीन के प्रधानमंत्री ली क्विंग से अलग-अलग संक्षिप्त मुलाकातें कीं. आसियान के 31वें शिखर सम्मेलन व इससे संबंधित अन्य बैठकों में भाग लेने यहां आये मोदी नेताओं के स्वागतकक्ष में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे, रूस के प्रधानमंत्री दमित्रि मेदवेदेव और मलेशिया के प्रधानमंत्री नजीब रजक से भी बातचीत करते देखे गये.
फिलीपींस के राष्ट्रपति रॉड्रिगो दुतेर्ते द्वारा यहां पासाय सिटी के भव्य एसएमएक्स कंवेंशन सेंटर में आयोजित स्वागत समारोह के दौरान उन्होंने कई अन्य नेताओं के साथ बातचीत की. प्रधानमंत्री मोदी समेत अन्य नेता भी फिलीपींस का राष्ट्रीय पहनावा बारोंग तागालोंग पहने दिखाई दिये. फिलीपींस के प्रख्यात डिजायनर अलबर्ट अंद्रादा ने इन कढ़ाईदार कमीजों को डिजायन किया है.

apteka mujchine for man ukonkemerovo woditely driver.

error: Content is protected !!